भारतीय सेना के लद्दाख में दबाव के बाद ने उठाये बड़े कदम, सीमा पर तेनात किये जंगी विमान

भारत ने लद्दाख में सीमा पर चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स (PLAAF) की असामान्य मूवमेंट का पता लगाया है। वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि चीन की किसी भी चालबाजी का जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना भी पूरी तरह से तैयार है और इसके लिए रणनीति बना ली गई है।
Chinese fighters jets 'briefly enter Taiwan's airspace' | China News | Al  Jazeera

भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 और सुखोई एसयू 30 लड़ाकू विमान को चीन के जे-10, जे-11 और एसयू-27 लड़ाकू विमानों पर बढ़त हासिल है। चीन ने भारत से लगी सीमा पर इन्हीं विमानों को तैनात किया है। भारतीय मिराज 2000 और एसयू -30 जेट्स ऑल-वेदर, मल्टी-रोल विमान हैं जबकि चीन का जे-10 ही ऐसी योग्यता रखता है।
यह पूछे जाने पर कि क्या भारत-चीन में युद्ध होगा, वायु सेना प्रमुख ने कहा, “नहीं, हम चीन के साथ युद्ध वाली स्‍थिति में नहीं हैं। लेकिन हम किसी भी तरह के टकवार के लिए तैयार हैं। LAC में शांति से स्थिति को हल करने के लिए सभी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं।”