सुसाइड करना चाहता था टीम इंडिया का यह खिलाड़ी, विपरीत समय मे विराट कोहली ने की थी मदद

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने कहा है कि जब वह 2015 विश्व कप के बाद चोट से वापसी कर रहे थे तब उन्होंने तीन बार खुदकुशी करने के बारे में सोचा था। शमी ने इंस्टाग्राम पर रोहित शर्मा के साथ बात करते हुए बताया कि 2015 विश्व कप के बाद अपनी चोट से वापसी करते हुए और निजी जीवन की परेशानियों के बीच उन्हें अपनी एकाग्रता बनाए रखने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा था।

शमी ने कहा कि यह वो दौर था, जब मेरे मन में सुसाइड करने का विचार आया. मगर मेरे परिवार ने यह सुनिश्चित किया कि मैं कभी अकेला न रहूं. हर समय कोई न कोई मेरे आसपास रहता था. मुझसे बात करता था. हिंदुस्‍तान टाइम्‍स से बात करते हुए शमी ने कहा कि अध्‍यात्‍म भी आपको जवाब पाने में मदद करता है. आप अपने करीबी से बात करें और काउंसलिंग बेहतर रास्‍ता है. शमी काफी अधिक डिप्रेशन में चले गए थे, मगर इस भारतीय तेज गेंदबाज ने उसके बाद जबरदस्‍त वापसी की और इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर टीम इंडिया के लिए अहम गेंदबाज साबित हुए. शमी ने ऑस्‍ट्रेलिया में 16 विकेट लिए थे.

शमी ने कहा कि उस मुश्किल समय में टीम के साथी और विराट कोहली ने उनकी मदद की. शमी ने कहा कि टीम के साथियों ने मैदान पर गुस्‍सा और हताशा को बाहर निकालने के लिए कहा. विराट कोहली ने काफी समर्थन किया.